AWARAPAN BANJARAPAN @Jism :

AWARAPAN BANJARAPAN Hindi Lyrics #KK @Jism

Song Credits:
Movie: Jism (2003);
Song: Awarapan Banjarapan;
Singer: KK;
Lyricist: Sayeed Quadri;

Hindi Lyrics:
आवारापन बंजारापन एक खला है सीने में
हर दम हर पल बेचैनी है, कौन बला है सीने में?

इस धरती पर जिस पल सूरज रोज सवेरे उगता है।

इस धरती पर जिस पल सूरज रोज सवेरे उगता है,
अपने लिए तो ठीक उसी पल, रोज ढला है, सीने में

आवारापन बंजारापन एक खला है, सीने में

जाने यह कैसी आग लगी है, इसमें धुआं ना चिंगारी।

जाने यह कैसी आग लगी है, इसमें धुआं ना चिंगारी।
हो ना हो इस बार कहीं कोई ख्वाब जला है, सीने में
आवारापन बंजारापन एक खला है सीने में।

जिस रस्ते पर तपता सूरज, सारी रात नहीं ढलता।

जिस रस्ते पर तपता सूरज, सारी रात नहीं ढलता।
इश्क की ऐसी राह गुजर को हमने चुना है, सीने में
आवारापन बंजारापन एक खला है सीने में।

कहां किसी के लिए है मुमकिन, सबके लिए एक सा होना।

कहां किसी के लिए है मुमकिन, सबके लिए एक सा होना
थोड़ा सा दिल मेरा बुरा है, थोड़ा भला है सीने में
आवारापन बंजारापन एक खला है सीने में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.