ZINDAGI NE ZINDAGI BHAR @The Train :

ZINDAGI NE ZINDAGI BHAR GAM DIYE Hindi Lyrics #KK, Zubeen Garg @The Train

Song Credits:
Song : Zindagi Ne Zindagi Bhar Gham Diye;
Album: The Train- An Inspiration
Singers: KK, Zubeen Garg
Lyricist : Sayeed Qadri
Music Label : T-Series

Hindi Lyrics:
हो जिंदगी ने जिंदगी भर गम दिए।
जितनी भी मौसम दिए सब नम दिए
जिंदगी ने जिंदगी भर गम दिए।
जितने भी मौसम दिए सब नम दिए।
जिंदगी ने जिंदगी भर गम दिए
जितने भी मौसम दिए सब नम दिए।

जब तड़पता है कभी, अपना कोई?
खून के आंसू, रुला दे बेबसी!
जब तड़पता है कभी अपना कोई।
खून के आंसू रुला दे बेबसी!
जीके फिर करना क्या मुझको ऐसी जिंदगी?
जीके फिर करना क्या मुझको ऐसी जिंदगी?

जिसने जख्मों को नहीं मरहम दिए।
जिंदगी ने जिंदगी भर गम दिए।
जितने भी मौसम दिए सब नम दिए
जिंदगी ने जिंदगी भर गम दिए।

अपने भी पेश आए हम से अजनबी
वक्त की साजिश कोई समझा नहीं।
अपने भी पेश आए हम से अजनबी
वक्त की साजिश कोई समझा नहीं।
बेइरादा कुछ खताए हमसे हो गई।

राह में पत्थर मेरी हरदम दिए।
जिंदगी ने जिंदगी भर गम दिए।
जितने भी मौसम दिए सब नम दिए
जिंदगी ने जिंदगी भर गम दिए।

एक मुकम्मल कशमकश है जिंदगी।
उसने हमसे कि कभी ना दोस्ती
एक मुकम्मल कशमकश है जिंदगी
उसने हमसे कि कभी ना दोस्ती
जब मिली मुझको आंसू के वो तोहफे दे गई।

हंस सके हम, ऐसे मौके कम लिए
हंस सके हम, ऐसे मौके कम दिए।
जिंदगी ने जिंदगी भर गम दिए।
जितने भी मौसम दिए सब नम दिए।

जिंदगी ने जिंदगी भर गम दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.