LO SHURU AB @Shabd:

LO SHURU AB CHAHTON KA Hindi Lyrics #Kumar Sanu, Sunidhi Chauhan @Shabd

Song Credits;

Song: Lo Shuru Ab Chahton Ka;

Movie: Shabd;

Singers: Kumar Sanu, Sunidhi Chauhan;

Lyricist: Irshad Kamil;

Music Label: T-Series;

Hindi Lyrics:

लो शुरू अब चाहतों का सिलसिला हो रहा है
मिट रही है दूरियां और फासला खो रहा है
हो रही है बात कुछ ऐसी जिसमें
हो रही है बात कुछ ऐसी जिसमें
शब्द गुम हैं
अर्थ मतलब चुपके से खो रहा है
लो शुरू अब चाहतों का सिलसिला हो रहा है
मिट रही है दूरियां और फासला खो रहा है

रुत ना पहले थी कभी इतनी जवां
थोड़ा नया सा लग रहा है ये जहां
आएगा और भी ऐसा ही समा
आएगा और भी ऐसा ही समा
हां हमेशा दो दिलों को प्यारा सा जो रहा है
लो शुरू अब चाहतों का सिलसिला हो रहा है
मिट रही है दूरियां और फासला खो रहा है

दिल ये चाहे टूट कर चाहूं तुम्हें
दे दो इजाजत टूटने कि तुम हमें
दिल ये चाहे टूट कर चाहूं तुम्हें
दे दो इजाजत टूटने कि तुम हमें
चुनके रख लो चाहतों के ये लमहे
चुने के रख लो चाहतों के ये लमहे
यू संभलकर धाम लो पल
देखो वो खो रहा है
लो शुरू अब चाहतों का सिलसिला हो रहा है
मिट रही है दूरियां और फासला खो रहा है
हो रही है बात कुछ ऐसी जिसमें
हो रही है बात कुछ ऐसी जिसमें
शब्द गुम हैं
अर्थ मतलब चुपके से खो रहा है

English Lyrics:
lo shuru ab chahton ka
silsila ho raha hai
mit rahi hai dooriyan aur
faasla kho raha hai
ho rahi hai baat kuchh aisi jismen
ho rahi hai baat kuchh aisi jismen
shabd gum hain arth matlab
chupke se kho raha hai
lo shuru ab chahton ka
silsila ho raha hai
mit rahi hai dooriyan aur
faasla kho raha hai

rut na pahle thi kabhi itni jawan
thoda naya sa lag raha hai ye jahaan
aayega aur bhi aisa hi sama
aayega aur bhi aisa hi sama
haan hamesha do dilon ko pyara sa jo raha hai
lo shuru ab chahton ka
silsila ho raha hai
mit rahi hai dooriyan aur
faasla kho raha hai

dil ye chaahe toot kar chaahoon tumhe
de do ijaajat tootne ki tum hamen
dil ye chaahe toot kar chaahoon tumhe
de do ijaajat tootne ki tum hamen
chunke rakh lo chahton ke ye lamhe
chunke rakh lo chahton ke ye lamhe
yoon sambhalkar thaam lo pal dekho vo kho raha hai
lo shuru ab chahton ka
silsila ho raha hai
mit rahi hai dooriyan aur
faasla kho raha hai
ho rahi hai baat kuchh aisi jismen
shabd gum hain arth matlab
chupke se kho raha hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.